बिहार शिक्षा सचिव K.K. Pathak ने नई शिक्षक को ईस बात से सूचित की है, जो सच में चिंता की विषय है.

बिहार में प्रथम चरण की शिक्षक बहाली की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। लगभग 1,30,336 शिक्षकों की बहाली हुई है। शिक्षकों ने योगदान देकर ट्रेनिंग ले रहे हैं। ट्रेनिंग सेंटर पर शिक्षा विभाग के मुख्य सचिव के के पाठक (K.K. Pathak) लगातार निरीक्षण भी कर रहे हैं।

WhatsApp Channel Join Now
Telegram Channel Join Now
Instagram Group Join Now

गुरुवार को के के पाठक बक्सर जिले के दौरे पर थे। डुमरांव के जिला शिक्षण संस्थान का निरीक्षण किया। उन्होंने शिक्षक को आदेश दिया कि वह स्कूल से 15 किलोमीटर के अंदर ही रहे। उन्होंने यह भी कहा कि अगर आप गांव की स्कूल में नौकरी करने के लिए आए हो, और शहर में रहकर इतना दूरी तय करके आओगे, तो आपके गांव की स्कूल में नौकरी करने की जरूरत नहीं है, आप जा सकते हो।

नये शिक्षकों को प्रोत्साहित किया

सभी नये शिक्षकों को केके पाठक ने कहा कि आपलोग अच्छे से प्रशिक्षण लें। आवश्यक प्रौद्योगिकी का विस्तार हमारे द्वारा शीघ्र ही किया जाएगा। अगले पांच वर्षों में शिक्षण और सीखने का परिदृश्य बदला हुआ दिखेगा। उन्होंने यह भी कहा कि अगले कुछ वर्षों में स्कूल का सारा काम कंप्यूटरीकृत हो जायेगा. साथ ही प्रशिक्षण इस प्रकार लें कि आप भविष्य में प्रधानाध्यापक को उनके कार्य में मदद कर सकें।

नये शिक्षकों को सूचित किया

उन्होंने सभी नये शिक्षकों से दोहराया कि जब तक सरकार आपके लिए आवास की व्यवस्था नहीं कर लेती, तब तक आप विद्यालय से 15 किलोमीटर के अंदर ही अपनी व्यवस्था कर लें. क्योंकि यदि आप 50 किमी दूर किसी शहर में रहते हैं और वहां से आवागमन करते हैं, तो आपको अपनी असुविधा और शिक्षा प्रणाली पर ध्यान केंद्रित करने में समस्या हो सकती है। इसलिए आपको किराये के मकान में दो या तीन लोगों के एक साथ रहने की व्यवस्था करनी चाहिए।

Leave a Comment

Vivo T2X 5G Loot Offer मैसूर दशहरा में गोल्डन हावड़ा उठाने वाले अर्जुन हाथी का दर्दनाक मौत