Sarso Ka Bhav Today Haryana: किसानों पर वार, सरसों के दाम में आई रिकॉर्ड गिरावट!

Sarso Ka Bhav Today Haryana: 1 दिन में ही अचानक सरसों के भाव में आई भारी गिरावट। जिसके चलते हरियाणा के किसानों को भारी नुकसान का सामना करना पड़ रहा है। सरसों मंडी (Sarso Mandi) खोलने के साथ ही साथ आज सरसों के भाव में बहुत ज्यादा गिरावट आई है।

WhatsApp Channel Join Now
Telegram Channel Join Now
Instagram Group Join Now

एक दिन पहले जहां सरसों प्रति कुंतल ₹4900 प्राइस में बिक रहा था, वही आज इस भाव में बहुत ज्यादा गिरावट देखने को मिला है। वहीं पर उच्चतम सरसों की भाव में गिरावट आई है। जो किस काल की सरसों के भाव को जानने के बाद अपने फसलों को आज बिकने के लिए सोच रहा था उनको भारी नुकसान का सामना करना पड़ेगा।

सरसों का भाव आज हरियाणा

आज हरियाणा सरसों मंडी में भीड़ थोड़ी कम है। क्योंकि आज सरसों के दाम कल के मुकाबले काफी कम हो गए हैं। अगर आपको इस समय पैसों की जरूरत है और आप अपनी फसल बेचने को मजबूर हैं। तो आपको काफी नुकसान उठाना पड़ेगा। आइए जानते हैं आज हरियाणा के अलग-अलग शहरों की मंडियों में सरसों का भाव।

हिसार जिले की आदमपुर मंडी में कल सरसों का न्यूनतम भाव 4900 रुपए और अधिकतम भाव 5465 रुपए था. आज सरसों का भाव घटकर 4410 रुपए और अधिकतम भाव 4840 रुपए हो गया है.

फतेहाबाद की भट्टू कलां मंडी में कल सरसों का न्यूनतम भाव 5033 रुपए और अधिकतम भाव 5220 रुपए था. आज सरसों का भाव घटकर 4900 रुपए और अधिकतम भाव 5381 रुपए हो गया है.

गुड़गांव जिले के फरुखनगर मंडी में कल सरसों का न्यूनतम भाव 5000 रुपए और अधिकतम भाव 5150 रुपए था. आज सरसों का भाव अभी तक कोई अपडेट नही आया है.

हिसार जिले की हिसार मंडी में कल सरसों का न्यूनतम भाव 4425 रुपए और अधिकतम भाव 4850 रुपए था. आज सरसों का भाव घटकर 4415 रुपए और अधिकतम भाव 4840 रुपए हो गया है.

Hariyana Sarso Ka Bhav

किसान भाइयों को संभाल कर रहना होगा। क्योंकि दीपावली के बाद से ही सरसों के भाव में गिरावट देखने को मिल रहा है। पिछले साल की तरह इस साल भी दीपावली के बाद से ही सरसों के भाव में अभी तक उछाल नहीं आया है। इसलिए हर रोज हरियाणा की सभी मंडी में सरसों के भाव को चेक करना है, और उसके हिसाब से आपको अपना सिद्धांत लेना है।

Leave a Comment

Vivo T2X 5G Loot Offer मैसूर दशहरा में गोल्डन हावड़ा उठाने वाले अर्जुन हाथी का दर्दनाक मौत